बड़ी बेपरवाह हो गई है खुशियाँ भी आजकल,
कब आती है कब जाती है पता ही नहीं चलत

Create a poster for this message
Visits: 82
Download Our Android App