बुलन्दी देर तक किस शख्स के हिस्से में रहती है,
बहुत ऊँची इमारत हर घडी खतरे में रहती है

Create a poster for this message
Visits: 84
Download Our Android App