ऐ‬ जिंदगी इस बार मुझे तोड़कर ऐसा बिखेर,ना मैं खुद जुड़ पाऊँ और ना कोई फिर से तोड़ पाए

Create a poster for this message
Visits: 88
Download Our Android App