और भी बनती लकीरें दर्द की शायद, शुक्र है तेरा खुदा जो हाथ छोटा सा दिया

Create a poster for this message
Visits: 147
Download Our Android App