देखा था हमने शोक–ए–नज़र की ख़ातिर,सोचा ये ना था कि तुम दिल में उतर जाओगे

Create a poster for this message
Visits: 142
Download Our Android App