तू अगर दोस्त है तो नसीहत ना कर खुदा के लिये मेरा ज़मीर बहुत है मेरी सज़ा के लिये

Create a poster for this message
Visits: 148
Download Our Android App