दर्द जितना है में निगाहों में न दे खुदा किसी की राहो में बिताना चाहते थे  ज़िन्दगी जिनकी बाहों में शायद मौत भी न मिल पायेगी उनकी पनाहों में....

Create a poster for this message
Visits: 137
Download Our Android App