माना की तू चाँद हैं, तुझे देखने को लोग तरसते हैं मगर हम भी सूरज जैसे हैं, लोग हमे देखकर अपना सर झुकाते हैं।

Create a poster for this message
Visits: 99
Download Our Android App