Quickly search here what you are looking for


फरियाद भी करूँ तो फिर किसके लिए
मैंने ख़ुद के लिए कभी कुछ चाहा नही...!
शुभरात्रि

Create a poster for this message
Visits: 82