Are you looking for best बड़े message और कहानिआ quotes? We have 15+ quotes about बड़े message और कहानिआ for you. Feel free to download, share, comment and discuss every quotes, wallpaper you like.



Check all wallpapers in बड़े message और कहानिआ category.

Sort by

Oldest Status 1 - 15 of 15 Total

*💜FOR SENIORS ONLY💜* *💝 बुढ़ापा और परिवार 💝* ✍ *जो बन गए हैं दादू या नानू,* *उनके लिए लिखे हैं,* *किसी ने कुछ नियम और कायदे,* *जो करते हैं बुढ़ापे में कुछ फायदे.* ✍ *परिवार के साथ बुढ़ापा* *अच्छे से व शान्ति से काटने के* *लिए कुछ मंत्र आप गौर से पढ़िये.* ✍ 01. *कम बोलिये...* जरूरत न हो तो बिलकुल मत बोलिये. 02. मनचाही वस्तु ना मिलने पर *क्रोध ना करे.* 03. अपनी *धन संपत्ति का* बार बार बखान ना करें. 04. बहू-बेटियों के *कार्य में दखल ना करें.* 05. यह आशा न करें कि *बहू.बेटे हर काम* हमसे पूछकर करें. 06. *खाने पीने में संतोषी रहे.* जो मिल जाए प्रभु का प्रसाद समझ कर ग्रहण करें और प्रभु का धन्यवाद करें. 07. किसी पर *अपनी इच्छा थोपने* की कोशिश न करें. 08. *बहू.बेटियों तथा उनके बच्चों से* स्नेह व प्रेम का का व्यवहार करें. 09. बुढापे के कष्ट व बीमारी को कर्मफल समझ कर खुशी खुशी सहन करें. 10. घर पर आए किसी भी व्यक्ति से *अपने घर की कोई बुराई न करें.* 11. बहू.बेटियों के *कटुवचन सुनकर* शांत हो जाएँ और कोई प्रत्युत्तर न दें। 12. अपने स्वास्थ्य के सामर्थ्य अनुसार *बहू.बेटियों के कार्य में* *सहयोग करें.* 13. *प्रभु का स्मरण अवश्य करते रहें.* 14. ध्यान रहे कि *प्रभु की कृपा से* सब कुछ प्राप्त होता है. *प्रभु का शुकराना करते रहिये.* खाली हाथ आए थे, खाली हाथ ही जाना है, प्रेम से रहकर सबसे रिश्ता निभाना है. 15. अपने परिवार की समस्याएँ *दूसरों के सामने न रखें.* 16. *अपने बीते दिनों के गुणगान* रात-दिन न करें. 17. *प्राकृतिक जीवनशैली अपनाएँ.* 18. ध्यान रहे इच्छा से मृत्यु सबको नहीं प्राप्त होती है और कलयुग में तो बिलकुल भी नहीं. *अतः प्रसन्न व आनन्द में* रहकर बुढ़ापे का जीवन जियें. 19. उम्र के हिसाब से बच्चों के *पूछने के तरीके बदल जाते हैं.* बच्चों के उम्रदराज होने पर *उनके बताने व जानकारी देने को ही* उनके द्वारा पूछना ही समझें. 20. खाँसी सिर्फ बीमारी ही नहीं है, *खाँसी एक तहजीब भी होती है,* एक उम्र के बाद अपनी *उपस्थिति का अहसास* अपने ही घर में कराने के लिए. ✍ *इंसान की सोच* *अगर तंग हो जाती है,* *तो यह खूबसूरत जिन्दगी* *भी एक जंग हो जाती है.* *🌈 🌈जय हो प्रभु तेरी 🌈🌈*

*एक बार कुछ बच्चे फुटबॉल खेल रहे थे। वहाँ से एक संत जा रहे थे तभी एक बच्चे ने महात्मा से सवाल किया....* *गुरुजी इस फुटबॉल ने एसे कैसे कर्म किए है जो उसे इतनी लाते खानी पड रही है ?* संत ने बहुत सुंदर जवाब दिया.... *"बेटे ये इसके कर्म नही किंतु इसमे हवा भरी है इसलिए इसे इतनी लाते खानी पड रही है"* *इसी तरह मनुष्य में जब तक अहंकार भरा होता है तब तक जीवन मे लाते खानी पडती है* 🙏🏻🌷🙏🏻🌷🙏🏻🌷🙏🏻🌷🙏🏻

*"मुझे तैरने दे या* *फिर बहना सिखा दे,* *अपनी रजा में* *अब तू रहना सिखा दे,* *मुझे शिकवा ना हो* *कभी भी किसी से,* *ऐ कुदरत...* *मुझे सुख और* *दुख के पार* *जीना सिखा दे...* *"मेरा मजहब तो* *ये दो हथेलियाँ बताती है...* *जुड़े* *तो* *"पूजा"* *खुले तो "दुआ"* *कहलाती हैं...*✍🏻 🙏🏻🌹 *Good Morning Ji* 🌹🙏🏻

जो *पिता* के पैरों को छूता है वो कभी *गरीब* नहीं होता। जो *मां* के पैरों को छूता है वो कभी *बदनसीब* नही होता। जो *भाई* के पैराें को छूता है वो कभी *गमगीन* नही होता। जो *बहन* के पैरों को छूता है वो कभी *चरित्रहीन* नहीं होता। *जो गुरू के पैरों को छूता है* *उस जैसा कोई* *खुशनसीब नहीं होता*....... 💞अच्छा *दिखने* के लिये मत जिओ बल्कि *अच्छा* बनने के लिए जिओ💞 💞जो *झुक* सकता है वह सारी ☄दुनिया को *झुका* सकता है 💞 💞 अगर बुरी आदत *समय पर न बदली* जाये तो बुरी आदत *समय बदल देती* है💞 💞चलते रहने से ही *सफलता* है, रुका हुआ तो पानी भी *बेकार* हो जाता है 💞 💞 *झूठे दिलासे* से *स्पष्ट इंकार* बेहतर है अच्छी *सोच*, अच्छी *भावना*, अच्छा *विचार* मन को हल्का करता है💞 💞मुसीबत सब पर आती है, कोई *बिखर* जाता है और कोई *निखर* जाता है💞 💞दुनिया की ताकतवर चीज है *"लोहा"*🔩 जो सबको काट डालता है .... लोहे से ताकतवर है *"आग"*🔥 💞जो लोहे को पिघला देती है....💞 💞आग से ताकतवर है *"पानी"*🌧 ☄जो आग को बुझा देता है.... 💞 💞और पानी से ताकतवर है *"इंसान"* जो उसे पी जाता है....💞 💞इंसान से भी ताकतवर है *"मौत"* जो उसे खा जाती है....💞 💞और मौत से भी ताकतवर है *"दुआ"* जो मौत को भी टाल सकती है...💞 💞 "तेरा मेरा"करते एक दिन चले जाना है... जो भी कमाया यही रह जाना है💞 *💞कर ले कुछ अच्छे कर्म💞* *💞साथ यही तेरे आना है💞* *💞मुझे वो 👌🏼रिश्ते पसंद है,* *जिनमें "मैं" नहीं "हम"हो💞*✍🏻 *♥️♥️Radhe Radhe* 💞💞💞💞💞💞💞 💲Happy World Family Day💲 "परिवार" से बड़ा कोई "धन" नहीं! "पिता" से बड़ा कोई "सलाहकार" नहीं! "माँ" की छाव से बड़ी कोई "दुनिया" नहीं! "भाई" से अच्छा कोई "भागीदार" नहीं! "बहन" से बड़ा कोई "शुभचिंतक" नहीं! "पत्नी" से बड़ा कोई "दोस्त" नहीं इसलिए "परिवार" के बिना "जीवन" नहीं!!! 👏🏻👏🏻👏🏻👏🏻👏🏻 आज विश्व परिवार दिवस की आप सभी को हार्दिक शुभकामनाऍ 🌹

कोई जाकर इन सड़क पर बोर्ड लगाने वालों को समझाओ...
हर जगह लिखते है
*घर पर आपका कोई इंतजार कर रहा है*
बंदा गाड़ी और तेज़ चलाता है। पता नहीं कौन मिलने आया है ।
अगर लिखा जाए
*घर पर बीबी इंतजार कर रही है* तो बन्दे की स्पीड खुद ब खुद कम हो जाएगी

जन हित में जारी।।

🐾 *हे परमात्मा*, 🐾
*अगर आप का कुछ तोड़ने का मन करे*,
🐾तो मेरा ग़रूर तोड़ देना.. *अगर आप का कुछ जलाने का मन करे*,
🐾तो मेरा क्रोध जला देना.. 🐾 *अगर आप का कुछ बुझाने का मन करे*,
🐾तो मेरी घृणा बुझा देना..🐾 *अगर आप का मारने का मन करे*, 🐾तो मेरी इच्छा को मार देना..🐾
*अगर आप का प्यार करने का मन करे*,
🐾तो मेरी ओर देख लेना..🐾 *"मैं शब्द, तुम अर्थ, तुम बिन मैं व्यर्थ"* 🐚☀🐚

TOO गुड मैसज 👌👌👌👌👌
अंग्रेज ने पूछा:
भारतीय स्त्रियाँ हाथ क्यों नहीं मिलाती हैं, इसमें कुछ भी नुकसान नहीं है..."
स्वामी विवेकानंद जी ने जवाब दिया:
"क्या आपके देश में कोई साधारण व्यक्ति आपकी महारानी (Queen) से हाथ मिला सकता है???"
अंग्रेज: "नहीं"
स्वामी विवेकानंद: "हमारे देश में हर एक स्त्री महारानी (Queen) होती है।"

पिता – बेटा, अंकल को गिनती सुनाओं…
बेटा – 1… 2… 3… 4… 5…
पिता – और 5 के बाद क्या आता है… बेटा ?
बेटा – 6… 7…
पिता – और 7 के बाद क्या आता है… ?
बेटा – 8… 9… 10…
पिता – शाबाश बेटा… और उसके बाद ???
बेटा – गुलाम… बेगम… बादशाह…

रंग से गोरी न थी ..😄
लेकिन सुन्दर थी..😜
बहुत ऊँची न थी...😊
लेकिन मेरे लिए योग्य थी...😘
प्रेम देने वाली न सही...😃
मेरे कदमो से कदम मिलाती थी...😝
मंदिर - मस्जिद आने से इनकार करती थी....😊
लेकिन बाहर मेरा इंतजार करती थी....😍
कही भी जाओ मेरे लिए रुक जाती थी....😉
वो
. जैसी भी थी

मेरी चप्पल थी.. पता नहीं कौन उठाकर ले गया..

जो पिता के पैरों को छूता है, वो कभी गरीब नहीं होता।
जो मां के पैरों को छूता है,वो कभी बदनसीब नही होता।
जो भाई के पैराें को छूता है, वो कभी गमगीन नही होता।
जो बहन के पैरों को छूता है, वो कभी चरित्रहीन नहीं होता।
जो गुरू के पैरों को छूता है, उस जैसा कोई खुशनसीब नहीं होता.......

💞दुनिया की ताकतवर चीज है "लोहा" जो सबको काट डालता है ....
लोहे से ताकतवर है "आग" जो लोहे को पिघला देती है....
आग से ताकतवर है "पानी" जो आग को बुझा देता है.... 💞
💞और पानी से ताकतवर है "इंसान" जो उसे पी जाता है....💞
💞इंसान से भी ताकतवर है "मौत" जो उसे खा जाती है....💞
💞और मौत से भी ताकतवर है "दुआ" जो मौत को भी टाल सकती है...💞
💞 "तेरा मेरा"करते एक दिन चले जाना है... जो भी कमाया यही रह जाना है💞
💞कर ले कुछ अच्छे कर्म💞
💞साथ यही तेरे आना है💞

"परिवार" से बड़ा कोई "धन" नहीं!
"पिता" से बड़ा कोई "सलाहकार" नहीं!
"माँ" की छाव से बड़ी कोई "दुनिया" नहीं!
"भाई" से अच्छा कोई "भागीदार" नहीं!
"बहन" से बड़ा कोई "शुभचिंतक" नहीं!
"पत्नी" से बड़ा कोई "दोस्त" नहीं
इसलिए "परिवार" के बिना "जीवन" नहीं!!!

एक इलाके में एक भले आदमी का निधन हो गया , लोग अर्थी ले जाने को तैयार हुये और जब उठाकर श्मशान ले जाने लगे तो एक आदमी आगे आया और अर्थी का एक पांव पकड़ लिया और बोला के मरने वाले ने मेरे 15 लाख देने है, पहले मुझे पैसे दो फिर उसको जाने दूंगा।
अब तमाम लोग खड़े तमाशा देख रहे हैं, बेटों ने कहा के मरने वाले ने हमें तो कोई ऐसी बात नही कही कि वह कर्जदार है, इसलिए हम नही दे सकतें मृतक के भाइयों ने कहा के जब बेटे जिम्मेदार नही तो हम क्यों दें। अब सारे खड़े है और उसने अर्थी पकड़ी हुई है, जब काफ़ी देर गुज़र गई तो बात घर की औरतों तक भी पहुंच गई।
मरने वाले कि इकलौती बेटी ने जब बात सुनी तो फौरन अपना सारा ज़ेवर उतारा और अपनी सारी नक़द रकम जमा करके उस आदमी के लिए भिजवा दी और कहा कि भगवान के लिए ये रकम और ज़ेवर बेच के उसकी रकम रखो और मेरे पिताजी की अंतिम यात्रा को ना रोको। मै मरने से पहले सारा कर्ज़ अदा कर दूंगी। और बाकी रकम का जल्दी बंदोबस्त कर दूंगी।
अब वह अर्थी पकड़ने वाला शख्स खड़ा हुआ और सारे लोगो से मुखातिब हो कर बोला: असल बात ये है मैने मरने वाले से 15 लाख लेना नही वरन उसका देना है और उसके किसी वारिस को मै जानता नही था तो मैने ये खेल किया। अब मुझे पता चल चुका है के उसकी वारिस एक बेटी है और उसका कोई बेटा या भाई नही है।
🙏🙏🙏

मुझे शराब से महोब्बत नही है, महोब्बत तो उन पलो से है
जो शराब के बहाने मैं दोस्तो के साथ बिताता हूँ.

*🤔Surprise Test🤔*
एक प्रोफ़ेसर अपनी क्लास में आते ही बोले,
........“चलिए,आज आप सभी का *Surprise Test* हो जाय।"
सुनते ही घबराहट शुरू गई *Students* में!
कुछ किताबों के पन्ने पलटने लगे तो कुछ लगे पढ़ने सर के दिए नोट्स।
“ये सब कुछ काम नहीं आएगा….”, प्रोफेसर साहब मुस्कुराते हुए बोले, *Questionpaper* रख रहा हूँ आपके सामने, जब सारे पेपर बट जाएं तभी आप उसे पलट कर देखें।"
बाँट दिए गए पेपर्स सभी *Students* को।
“ठीक है ! अब आप पेपर देख सकते हैं।"बोले प्रोफेसर साहब।
अगले ही क्षण सभी *Question paper* को 😌😌😌 निहार रहे थे,
*लेकिन यह क्या?* .............कोई प्रश्न था ही नहीं उस पेपर में !
था तो *White* पेपर पर केवल एक *Black* स्पॉट⚫
*"यह क्या सर?* इसमें तो *Question* है ही नहीं!", एक छात्र खड़ा होकर बोला ।
“जो भी है आपके सामने है। आपको बस इसी को *Explain* करना है।लेकिन!ध्यान रहे इसके लिए आपके पास केवल 10 मिनट ही हैं *And ur time starts now.*"
चुटकी बजाते 😊 मुस्कुराते हुए बोले प्रोफेसर। कोई चारा न था उन हैरान *Students* के पास। वे जुट गए उस अजीब से प्रश्न का *Answer* लिखने में।
10 मिनट बीतते ही प्रोफेसर साहब ने फिर से बजाई चुटकी *Time is over.*और लगे *Answer Sheets* collect करने।
*Students* अभी भी हैरान परेशान।
प्रोफेसर साहब ने सभी *Answer Sheets* चैक कीं।
सभी ने ⚫ *Black स्पॉट* ⚫ को अपनी तरह से समझाने की कोशिश की थी, लेकिन किसी ने भी उस स्पॉट के चारों ओर मौजूद *White Space* के बारे में लिखने की जहमत ही नहीं उठाई।
प्रोफ़ेसर साहब गंभीर होते हुए बोले,“इस *Test* का आपके *Academics* से कोई लेना-देना नहीं है, ना ही मैं इसके कोई *Marks* देने वाला हूँ। इस *Test* के पीछे मेरा एक ही मकसद है..........
...............मैं आपको जीवन की एक अद्भुत सच्चाई बताना चाहता हूँ।
देखिये! यह पेपर 99% *White*है…...
.........लेकिन आप में से किसी ने भी इसके बारे में नहीं लिखा और अपना 100% *Answer* केवल उस एक चीज को *Explain* करने में लगा दिया जो मात्र 1% है….........
.............. यही बात हमारी *Life* में भी देखने को मिलती है।......…
.............. *Problems* हमारे जीवन का एक छोटा सा हिस्सा होती हैं, लेकिन हम अपना पूरा ध्यान इन्हींपर लगा देते हैं….....
...........कोई दिन रात अपने *Looks* को लेकर परेशान रहता है तो कोई अपने *carrier* को लेकर चिंता में डूबा रहता है, तो कोई पैसों का रोना रोता रहता है,कोई दूसरे की छोटी सी गलती को अपने दिमाग में रखे रखता है।
क्यों नहीं हम अपनी *Blessings Count* कर खुश होते हैं….....
..............क्यों नहीं हम पेट भर खाने के लिए उस सर्व शक्तिवान प्रभु को *Thanks* कहते हैं….......?
क्यों नहीं हम अपनी प्यारी सी फैमिली के लिए शुक्रगुजार होते हैं….....?
क्यों नहीं हम *Life* की उन 99% चीजों की तरफ ध्यान देते जो सचमुच हमारे जीवन को अच्छा बनाती हैं.........?
क्यों नहीं हम अपने मित्रों सम्बन्धियों की *Mistakes* को *Ignore* कर अपने *Relations* को टूटने से बचाते है..........?
*Students* प्रोफेसर साहब की दी गई इस सीख से गदगद थे।
आईये आज से ही हम *Life* की *Problems* को ज्यादा *Seriously* लेना छोडें,मित्रों/सम्बन्धियों की *Mistakes* को भूलें और जीवन की छोटी-छोटी खुशियों को..........
........... *ENJOY करना सीखें तभी हम ज़िन्दगी को सही मायने में जी पायेंगे......*
सही है न ✅✅✅

बड़े MESSAGE और कहानिआ Page 1