Quickly search here what you are looking for


वो शमा की महफ़िल ही क्या जिसमे दिल खाक ना हो.
मज़ा तो तब है चाहत का जब दिल तो जले पर राख ना हो.!!

Create a poster for this message
Visits: 30