बहोत शौक था उसे सबको जोड़ के रखने का,
होश तब आया जब अपने ही वज़ूद के टुकडे देखे

Create a poster for this message
Visits: 119
Download Our Android App