मेरी नींद ने आज न आने की कसम खाई है,
आज फिर मेरी आंखे रोएगी समंदर की तरह

Create a poster for this message
Visits: 108
Download Our Android App