मैं हँसता हूँ तो बस अपने ग़म छिपाने के लिए,और लोग देख के कहते है काश हम भी इसके जैसे होते

Create a poster for this message
Visits: 100
Download Our Android App