ऐ तकदिर आ तेरे पैरों को मरहम लगा दूँ,कुछ चोंटे तूझे भी आई होंगी मेरे सपनों को ठोकर मारते मारते

Create a poster for this message
Visits: 101
Download Our Android App