ना जाने किन रैन बसेरो की तलाश है इस चाँद को,रात भर बिना कंबल के तन्हा भटकता है आसमान मे !!

Create a poster for this message
Visits: 71
Download Our Android App