मैं तुमसे अब कुछ नहीं माँगता ए ख़ुदा,तेरी देकर छीन लेने की आदत मुझे मंज़ूर नहीं !!

Create a poster for this message
Visits: 81
Download Our Android App