लबों पे घर से तबस्सुम सजा के निकलूँगा मैं आज फिर कोई चेहरा लगा के निकलूँगा

Create a poster for this message
Visits: 162
Download Our Android App