” रुतबा ” तो खामोशियों का होता है … ” अलफ़ाज़ ” तो बदल जाते है लोगों को देखकर…

Create a poster for this message
Visits: 175
Download Our Android App