बिन मेरे रह ही जाएंगी कोई ना कोई कमी शायद,ज़िन्दगी को तुम जितनी मर्ज़ी संवारने की कोशिश कर लो

Create a poster for this message
Visits: 145
Download Our Android App