हवा की तरह तू छू के निकल जाती है।  मुझे यु न देख मेरी रूह पिघल जाती है। 

Create a poster for this message
Visits: 91
Download Our Android App