जब खामोश आँखों से बात होती है, तो ऐसे ही मोहब्बत की शुरुआत होती है, तेरे ही ख्यालों में खोये रहते हैं, न जाने कब दिन और कब रात होती है।

Create a poster for this message
Visits: 102
Download Our Android App