तेरी यादों को क्यूँ मिटाए हम, नये जख़्म बनाने से तो अच्छा है की पुराने ही कुरेदते रहे !!

Create a poster for this message
Visits: 92
Download Our Android App