सांसो का पिंजरा किसी दिन टूट जायेगा, ये मुसाफिर किसी राह में छूट जायेगा  अभी जिन्दा हूँ तो बात लिया करो,  क्या पता कब हम से खुदा रूठ जायेगा....

Create a poster for this message
Visits: 195
Download Our Android App