दस्तूर उल्फत के निभाये ना गये, उनसे वादे प्यार के निभाये ना गये|| हम पलके बिछाये रहे, उनकी राहो मै, उनसे फासले बीच के मिटाये ना गये ||

Create a poster for this message
Visits: 101
Download Our Android App