जब तुम्हे नींद नहीं आती, तो हमें कैसे चैन आयेगा || कैसे हम सुकून से जियेंगे, जब कोई हमें दिन-रात तड्पायेगा ||

Create a poster for this message
Visits: 105
Download Our Android App