सोंचते हैं गिरा दें सभी रिश्तों के खंडहर
इन मकानों से किराया भी नहीं आता..✍️

Create a poster for this message
Visits: 228
Download Our Android App