बात वो कहिए कि जिस बात के सौ पहलू हों
कोई पहलू तो रहे बात बदलने के लिए

Create a poster for this message
Visits: 167
Download Our Android App