मन को अपना नेत्र बानवे उसके सब संकट कट जावे जहा न मित्र न और सहाये वह धैर्य बस महा उपाय ।

Create a poster for this message
Visits: 215
Download Our Android App