काश में भी पानी का एक घूँट होता,
तेरे होंठों से लगता ओर तेरी रग रग में समा जाता..

Create a poster for this message
Visits: 200
Download Our Android App