आँखे नम है मेरी और जिगर जलता है
क्या क़यामत है कि बरसात में घर जलता है

Create a poster for this message
Visits: 157
Download Our Android App